Homeउत्तर प्रदेश

माफिया अतीक का बेटा असद यूपी पुलिस के एनकाउंटर में ढेर

24 फरवरी को उमेश पाल के मर्डर के बाद से ही असद और गुलाम मोहम्मद फरार थे. STF 48 दिन से लगातार इन्हें ट्रेस कर रही थी और झांसी में इनकी लोकेशन मिलने

गलगोटिया में उद्यमिता के गुरूआें का जमावडा स्टार्टअप के लिये सफलता की कुंजी पर अनुभव साझा किया
यूपी में 10 मई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, अब चार दिन और रहेगा कोरोना कर्फ्यू
विधायक राधामोहन अग्रवाल का गोरखपुर से टिकट कटा, अखिलेश ने सपा में शामिल होने का दिया न्योता

24 फरवरी को उमेश पाल के मर्डर के बाद से ही असद और गुलाम मोहम्मद फरार थे. STF 48 दिन से लगातार इन्हें ट्रेस कर रही थी और झांसी में इनकी लोकेशन मिलने पर मार गिराया.

NBM HINDI लखनऊ:-गैंगस्टर अतीक अहमद के बेटे असद और शूटर गुलाम मोहम्मद का यूपी पुलिस ने गुरुवार को एनकाउंटर कर दिया. दोनों उमेश पाल मर्डर केस में वांटेड थे. इन दोनों पर पांच-पांच लाख रुपये का इनाम था. एनकाउंटर झांसी में पारीछा डैम के पास हुआ. प्रशांत कुमार, स्पेशल DG लॉ एंड ऑर्डर (उत्तर प्रदेश) ने मीडिया ब्रीफिंग में इस एनकाउंटर की जानकारी दी. उन्होंने कहा- ‘इनपुट थे कि रास्ते में काफिले पर हमला करके अतीक को छुड़ाने की प्लानिंग की जा रही है. इसे देखते हुए स्पेशल फोर्सेस लगाई गई थीं

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने बताया, ‘आज 12:30 से 1 बजे के बीच में एक सूचना के आधार पर कुछ लोगों को रोका गया, तो दोनों तरफ से गोलियां चलीं. इस मुठभेड़ में 24 फरवरी को उमेश पाल की हत्या करने वाले दो लोग घायल हुए. बाद में दोनों की मौत हो गई. इनकी पहचान असद अहमद और गुलाम के रूप में हुई. अभियुक्तों के पास से अत्याधुनिक विदेशी हथियार, बुलडॉग आदि बरामद हुए हैं.’

सरकार माफियाओं को खत्म करने प्रतिबद्ध
प्रशांत कुमार एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने कहा- ‘सरकार की अपराध और अपराधियों, माफियाओं को खत्म करने की जो प्रतिबद्धता है, वो आप जानते हैं. सरकार जीरो टॉलरेंस की नीति अपना रही है.’

रोने लगा अतीक अहमद
STF की कार्रवाई के दौरान अतीक की प्रयागराज कोर्ट में पेशी चल रही थी. बेटे के एनकाउंटर की खबर सुनकर वो रोने लगा. गला सूखा तो पानी मांगा और सिर पकड़कर बैठ गया.

देर है अंधेर नहीं- उमेश पाल की मां
असद अहमद के एनकाउंटर पर उमेश पाल की मां बोलीं- ‘मेरे बेटे को सरेआम गोली मार दी. आज की कार्रवाई से हम लोगों को थोड़ी सी शांति मिली है. मेरे बेटे के हत्यारे मारे गए. ये जो 2 एनकाउंटर हुए हैं, उन्हें पाप की सजा मिली. देर है अंधेर नहीं है. योगीजी को धन्यवाद.’

अखिलेश यादव बोले-बीजेपी को न्यायालय में विश्वास नहीं
अतीक अहमद के बेटे असद और शूटर गुलाम के एनकाउंटर पर पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने प्रतिक्रिया दी है. अखिलेश यादव ने कहा, ‘झूठे एनकाउंटर करके बीजेपी सरकार सच्चे मुद्दों से ध्यान भटकाना चाह रही है. बीजेपी वाले न्यायालय में विश्वास ही नहीं करते हैं. आज के हालिया एनकाउंटरों की भी गहन जांच-पड़ताल हो. दोषियों को छोड़ा न जाए. सही-गलत के फैसलों का अधिकार सत्ता का नहीं होता है. बीजेपी भाईचारे के खिलाफ है.’

अपराधी अपराध करके नहीं बच पाएगा
इस एनकाउंटर पर यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक (Brajesh Pathak) और केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने प्रतिक्रिया दी है. एनकाउंटर पर ब्रजेश पाठक ने कहा, “हमारा संकल्प है कि हम उत्तर प्रदेश से गुंडे माफिया और अपराधियों को खत्म करेंगे. अभी अभी घटना हुई है, जैसे ही पूरा विवरण आएगा उसे साझा करें. कोई भी ऐसा अपराधी जो अपराध करेगा वो प्रदेश में खुला नहीं घूमेगा. उत्तर प्रदेश कानून के माध्यम से सजा दिलाने में उत्तर प्रदेश पहले नंबर पर है. उत्तर प्रदेश में कोई भी अपराधी अपराध करके बच नहीं पाएगा.”

केशव प्रसाद मौर्य बोले- ये है नया उत्तर प्रदेश
केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, “यूपी STF को बधाई देता हूं. उमेश पाल एडवोकेट और पुलिस के जवानों के हत्यारों को यही हश्र होना था. इस प्रकार के अपराध करने वाले के लिए संदेश गया है कि यह नए भारत का नया उत्तर प्रदेश है. अगर यहां अपराध करोगे तो कोई बचा नहीं पाएगा. सजा भुगतनी पड़ेगी और वह सजा दो ही रास्ते हैं या तो वे कोर्ट में सरेंडर करते. पुलिस पैरवी के आधार पर फांसी के फंदे तक पहुंचाने का काम होता. अन्यथा जब पुलिस पकड़ने जाएगी और पुलिस पर गोली चलाएंगे तो पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की है और दोनों हत्यारे मुठभेड़ में ढेर हैं.”

उमेश पाल मर्डर केस में अब तक 4 एनकाउंटर
प्रयागराज में हुए उमेश पाल मर्डर केस में अब तक 4 एनकाउंटर हो चुके हैं. पहला एनकाउंटर प्रयागराज में ही 27 फरवरी को अरबाज का हुआ था. अरबाज उस क्रेटा कार को चला रहा था, जिससे बदमाश उमेश पाल के घर तक पहुंचे थे. इसमें असद भी था. दूसरा एनकाउंटर 6 मार्च को हुआ था. इसमें उमेश पर पहली गोली चलाने वाले विजय चौधरी उर्फ उस्मान को मुठभेड़ में मार गिराया था. इसके बाद 13 अप्रैल को असद और गुलाम का एनकाउंटर हुआ. अतीक के परिवार की मदद करने वाले 3 आरोपियों और करीबियों के घर पर बुलडोजर भी चल चुका है.

COMMENTS