Chaitra Navratri Mein Maa Ka Vahan: हिन्दू पंचांग के अनुसार में साल में चार बार नवरात्रि आती है। जहां एक ओर दो नवरात्रि गुप्त होती हैं तो वहीं दूसरी ओर अन्य दो नवरात्रि धूम धाम से मनाई जाती है। इन्हीं में एक है चैत्र नवरात्रि जिसका शुभारंभ 22 मार्च, दिन बुधवार से हो रहा है। हर नवरात्रि में जहां भक्त मां के आने का इंतजार करते हैं तो वहीं इस बात का भी इंतजार करते हैं कि मां कौन से वाहन पर सवार होकर आएंगी।

ज्योतिष एक्सपर्ट डॉ संजय आर शास्त्री जी ने हमें बताया कि हर साल मां अलग-अलग वाहनों पर आती हैं। हर वाहन का न सिर्फ अपना एक महत्व होता है बल्कि हर एक वाहन अपने साथ कोई न कोई संकेत लेकर आता है। इसी कड़ी एमिन आइये जानते हैं कि इस बार चैत्र नवरात्रि के अवसर पर मां किस वाहन पर सवार होकर आ रही हैं और क्या है उस वाहन से मिलने वाले संकेत।

इस साल चैत्र नवरात्रि के दौरान मां घर-घर में 22 मार्च से लेकर 30 मार्च तक विराजेंगी। इस साल मां का आगमन और गमन दोनों ही शुभ स्थिति में होने जा रहा है। मां का आना और जाना विशेष संकेत का सूचक होने वाला है।

 

ज्योतिष गणना और देवी पुराण के अनुसार इस साल मां चैत्र नवरात्रि  में नौका पर सवार होकर आ रही हैं। नौका पर माता इस बात का संकेत लेकर आती हैं कि सर्व काम में सिद्धि प्राप्त होगी और बाधा नहीं सताएगी।

mata rani ka vehicle

यानी कि इस बार मां के भक्तों के सभी काम बनेंगे और किसी भी प्रकार भी बाधा उत्पन्न करने वाले दोषों का निवारण होगा। जहां मां का आगमन बुधवार के दिन है तो वहीं मां का प्रस्थान गुरुवार के दिन है।

 

बुधवार के दिन मौका पर आती माता बुद्धि, विवेक, चातुर्य और मानसिक बल को दर्शाएंगी तो वहीं, गुरुवार के दिन मां का नौका पर गमन शिक्षा, नौकरी व्यापार और भक्ति में वृद्धि को दर्शाएगा।

mata rani ke vehicle ka significance

मां के नौका पर आने से इस बात का भी संदेश मिलता है कि मां अपने भक्तों को सागर रूपी हर कष्ट से उबारेंगी और उन्हें किनारा रूपी सुख-समृद्धि और संपन्नता के द्वारा तक पहुंचाएंगी।