Homeअमेरिका

इन राशियों पर दिखेगा 2023 में साढ़ेसाती का असर, भूलकर भी न करें ये काम होंगे परेशान आइए जानते हैं डॉक्टर संजय आर शास्त्री से

शनि 2023 में 17 जनवरी को राशि परिवर्तन करके कुंभ में आएंगे। ऐस में 2023 में 5 राशियों के जातक शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से प्रभावित हो रहेंगे जबक

जानिए कैसे बनते है कुंडली मे मुक़ादमेबाजी और जेल जाने के योग !! *डॉक्टर संजय आर शास्त्री से
विश्व वरिष्ठ नागरिक दिवस पर शुभकामनाएं एवं बधाई संदेश-भारतीय ज्योतिष विशेषग्य Dr. Sanjay R Shastri
इस बार मकर संक्रांति पर करें इन चीजों का दान, हो जाएंगे मालामाल आइए जानते हैं डॉक्टर संजय आर शास्त्री जी

शनि 2023 में 17 जनवरी को राशि परिवर्तन करके कुंभ में आएंगे। ऐस में 2023 में 5 राशियों के जातक शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से प्रभावित हो रहेंगे जबकि तीन राशियों से साढेसाती और ढैय्या का प्रभाव समाप्त हो जाएगा। ऐसे में जिन राशियों पर 2023 में शनि की साढेसाती और ढैय्या रहेगी उन्हें इस साल सुख शांति और उन्नति के क्या करना चाहिए और क्या नहीं। शनि कुंभ राशि में 17 जनवरी 2023 को प्रवेश कर जाएंगे। शनि के राशि परिवर्तन के साथ ही धनु राशि के जातकों को साढ़ेसाती से मुक्ति मिल जाएगी। जबकि तीन राशियों पर शनि की साढेसाती का प्रभाव बना रहेगा। शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या के दौरान 2023 में आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए जानें 2023 में शनि के प्रतिकूल प्रभाव से बचने के उपाय।हिंदू पंचांग के अनुसार, शनि 17 जनवरी को मकर राशि से निकलकर कुंभ राशि में प्रवेश कर जाएंगे। शनि के कुंभ राशि में प्रवेश करने से मकर, कुंभ और मीन राशि पर साढ़ेसाती का प्रभाव दिखाई देगा। इसके अलावा कुंभ राशि में शनि के आने से मिथुन और तुला राशि के जातकों को ढैय्या से मुक्ति मिल जाएगी। वहीं, कर्क और वृश्चिक राशि के जातकों पर ढैय्या शुरू हो जाएगी। आपको बता दें कि शनि साढ़ेसाती तीन चरणों में चलती है। इन सभी में से दूसरा चरण सबसे कष्टकारी माना जाता है। इस चरण में व्यक्ति को दुर्भाग्य, बीमारियां और असफलताओं का सामना करना पड़ता है। शनि की साढ़ेसाती के पहले चरण में व्यक्ति की आर्थिक स्थिति को प्रभावित करता है और तीसरा चरण सेहत के मामले में कष्टकारी होता है।

शनि साढ़ेसाती और ढैय्या के उपाय

1. हर शनिवार को 11 बार शनि स्त्रोत का पाठ करें यदि ऐसा संभव न हो तो फिर हर दिन शिन स्रोत का पाठ करना लाभकारी रहेगा।

2. शनिवार के दिन सफाई कर्मचारियों को कुछ न कुछ दान जरुर दें। पैसे या अन्न दान करना शनि की दशा में अच्छा रहता है।

3. जिन लोगों पर शनि का महादशा का प्रकोप है उन्हें इस दौरान कोकिला वन या शनिधाम की यात्रा करनी चाहिए ऐसा करना उत्तम माना गया है।

4. पीपल में नियमित हर शनिवार दूध और जल मिलाकर चढ़ाएं। साथ ही पीपल के पास काले तिल और चीनी रख आएं। चीटियों को चीनी मिलाकर आटा खिलाना भी लाभकारी रहता है।

5. एक नारियल लें और उसे ऊपर से तरफ से काट लें। इसके बाद इसमें चीनी आटा मिलाकर उसे बंद कर दें और ऊपर की तरफ छोटा छेद कर दें। इसके बाद इस नारियल को किसी सुनसान स्थान पर ले जाकर दबा दें। इसका मुंह थोड़ा बाहर की तरफ जरुर रखें। जैसे जैसे चिटियां इसमें रखें आटे का सेवन करेंगे वैसे वैसे आपको शनि की दशा से राहत मिलती रहेगी।

शनि की साढ़ेसाती के दौरान न करें ये काम

1. मंगलवार के दिन काले कपड़े न पहने और शनिवार के दिन आप काले कपड़े पहन तो सकते हैं लेकिन, काले रंग के कपड़ों की खरीदारी न करें।

2. शनि की जब दशा चल रही हो तो मांस मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए यदि रोजाना न संभव हो तो शनिवार और मंगलवार के दिन मांस मदिरा का सेवन बिल्कुल न करें।

3. शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या के दौरान बुजुर्गों के साथ नकारात्मक व्यवहार न करें और न ही उनका करें। कार्यस्थल में भी अपने जूनियर के साथ अच्छा व्यवहार रखें। यदि आप किसी का अनादर करते हैं तो आपको शनि के प्रतिकूल प्रभाव का सामना करना पड़ सकता है।

4. शनि की दशा के दौरान लोहा, तेल और काले तिल किसी से भी उधार नहीं लेने चाहिए। हालांकि, आप इन चीजों का दान करते हैं तो आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

5. शनि के साढ़ेसाती और ढैय्या के दौरान कानूनी मामलों से दूर रहें। शनि से संबंधित जो भी काम होता है उसकी शुरुआत करने से बचना चाहिए। यदि आप शनि संबंधित काम करना ही चाहते हैं तो पहले अच्छे ज्योतिष से सलाह जरुर लें।

COMMENTS