27 अप्रैल, दिन गुरुवार को गंगा सप्तमी मनाई जाएगी। गंगा सप्तमी का पर्व मां गंगा के पृथ्वी पर अवतरण के उत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन मां गंगा की पूजा की जाती है और साथ ही गंगा स्नान का भी विधान है। ज्योतिष एक्सपर्ट डॉ संजय आर शास्त्री जी का कहना है कि गंगा सप्तमी के दिन कुछ उपायों को करने से घर में सुख-समृद्धि आती है और मां गंगा प्रसन्न होकर घर की बीमरी भी हर लेती हैं। तो आइये जानते हैं गंगा सप्तमी से जुड़े उपायों के बारे में।

सौभाग्य प्राप्ति के लिए (Upay For Good Luck) 

गंगा सप्तमी के दिन मां गंगा के मंत्रों का जाप करते हुए उन्हें दूध अर्पित करना चाहिए। साथ ही, मां गंगा के किनारे कपूर (कपूर के उपाय) का दीपक जलाना चाहिए। इससे सौभग्य की प्राप्ति होती है और जीवन में सफलता के मार्ग खुलते हैं।

 

शीघ्र विवाह के लिए (Upay For Early Marriage)

चूंकि मां गंगा का स्थान शिव जी की जटाओं में है। ऐसे में गंगा सप्तमी के दिन गंगाजल में 5 बेलपत्र डालकर भगवान शिव का जलाभिशेष करना चाहिए। इससे शीघ्र विवाह के योग बनते हैं और मन चाहा जीवनसाथी मिलता है।

ganga saptami par kare ye upay

पुण्य प्राप्ति के लिए (Upay For Punya)

गंगा सप्तमी के दिन गंगा नदी के किनारे या घर पर गंगा मां को अर्पित छोटा सा हवन (हवन की राख के उपाय) करें। इससे अक्षय पुण्य की प्राप्ति होगी और आने वाली सात पीढ़ी को पापों के दुष्फलों को भोगने से मुक्ति मिल जाएगी।

ganga saptami ke jyotish upay

मनोकामना पूर्ती के लिए (Upay For Desire)

गंगा सप्तमी के दिन मां गंगा के स्तोत्र का पाठ करें और श्याम के समय भगवान शिव के मंदिर में घी का दीपक जलाएं। इससे व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी और रुके हुए काम भी बनने लग जाएंगे।

शारीरिक कष्ट के मुक्ति के लिए (Upay For Health)

गंगा सप्तमी के दिन गंगाजल को पानी मिलाकर नहाएं, गंगाजल का घर में छिड़काव करें और गंगाजल में तुलसी डालकर भगवान विष्णु की चरण वंदना करें। इससे शारीरिक कष्ट दूर होगा और स्वास्थ्य बेहतर बनेगा।

तो ये थे सुख-समृद्धि औरत संपन्नता के लिए गंगा सप्तमी के अचूक उपाय।