Homeज्योतिष

कुंडली के दूसरे भाव में मौजूद ग्रह होता है वाणी पर प्रभाव, आइए जानते हैं एस्ट्रोलॉजर 11:11आचार्य मिनी

कुंडली का दूसरा भाव धन का भाव होता है और यह भाव कुंडली में बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। कुंडली के द्वितीय भाव में मंगल के विराजमान होने पर जातक की

आज होगा होलिका दहन, भूलकर भी न करें ये काम, हो सकता है बड़ा नुकसान – आइए जानते हैं डॉ संजय आर शास्त्री जी
आपकी भी कुंडली में तो नहीं बन रहा शनि योग? जानिए इसका महत्व और फायदे *आइए जानते हैं एस्ट्रोलॉजर 11:11 आचार्य मिनी
धन लाभ के लिए चैत्र पूर्णिमा के दिन आजमाएं कपूर के उपाय-आइए जानते हैं डॉ संजय आर शास्त्री जी


कुंडली का दूसरा भाव धन का भाव होता है और यह भाव कुंडली में बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। कुंडली के द्वितीय भाव में मंगल के विराजमान होने पर जातक की वाणी तार्किक होती है।
कुंडली का दूसरा भाव धन का भाव होता है और यह भाव कुंडली में बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। कुंडली के द्वितीय भाव में मंगल के विराजमान होने पर जातक की वाणी तार्किक होती है। वहीं कुंडली द्वितीय भाव में अन्य ग्रहों के विराजमान होने पर जातक की वाणी भी कुंड़ली के द्वितीय भाव में मौजूद ग्रह के अनुसार ही होती है। तो आइए जानते हैं कुंडली के द्वितीय भाव में मौजूद किस ग्रह के अनुसार, जातक की वाणी कैसी होती है।

कुंडली के दूसरे भाव में सूर्य के विराजमान होने होने पर व्यक्ति की वाणी तेज और सच्ची होती है।
द्वितीय भाव में चंद्रदेव विराजमान होने पर जातक की वाणी शांत और सहज होती है। ऐसा जातक निर्मल हृदय का होता है और छल-कपट आदि से दूर रहता है।
कुंडली के दूसरे भाव में मंगलदेव के विराजमान होने पर जातक की वाणी में तार्किकता होती है। ऐसा व्यक्ति बहुत ही ज्यादा बुद्धिमान और साहसी होता है।
कुंडली के दूसरे भाव में बुध के विराजमान होने पर जातक वाणी से बहुत चतुर होता है।
कुंडली के दूसरे भाव में बृहस्पति के विराजमान होने पर जातक वाणी से शांत-गंभीर और मधुरभाषी होता है।
कुंडली के दूसरे भाव में शुक्र विराजमान होने पर जातक की वाणी में प्रेम और चाहत की झलक देखने को मिलती है।
कुंडली के दूसरे भाव में शनि के विराजमान होने से जातक की वाणी कुटिल होती है। ऐसा व्यक्ति कटुभाषी और दिल का साफ होता है।
कुंडली के दूसरे भाव में राहु के विराजमान होने से जातक अधिकतर झूठ ही बोलता है और ऐसा जातक कभी भी अपनी बात पर नहीं टिकता है। उसकी बातों पर कभी भी भरोसा नहीं किया जा सकता है।

COMMENTS