Homeज्योतिष

गुरुवार को इन उपायों से बनने लगते हैं बिगड़े काम *आइए जानते हैं एस्ट्रोलॉजर 11:11आचार्य मिनी

पौष माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि के दिन पड़ रहा है. पौष माह का तीसरा बृहस्पतिवार होने के कारण सप्तमी तिथि के योग से आज का दिन विशेष होगा. प

कुंडली के हर ग्रह दोष दूर कर देंगे ये उपाय, करते ही धड़ाधड़ मिलेगी सफलता, धन-दौलत! जानिए डॉ संजय आर शास्त्री जी
शुभ योग में मनाई जाएगी बसंत पंचमी, मां सरस्वती की पूजा के लिए ये है शुभ मुहूर्त-आइए जानते हैं डॉ संजय आर शास्त्री
शंख से होगा कष्ट निवारण और धन प्राप्ति जाने कैसे ? जानिए डॉ संजय आर शास्त्री

पौष माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि के दिन पड़ रहा है. पौष माह का तीसरा बृहस्पतिवार होने के कारण सप्तमी तिथि के योग से आज का दिन विशेष होगा.

पौष महीने का अंतिम गुरुवार होने के कारण तथा आज के दिन ही शुक्र और बुध ग्रह के बदलाव का योग भी बनेगा. ऎसा होना आज के दिन को ओर भी खास बना रहा है. गुरुवार का दिन होने से श्री विष्णु भगवान का पूजन के लिए खास बन रहा है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गुरुवार को भगवान विष्णु का दिन माना जाता है. इस दिन भगवान विष्णु की विशेष रूप से पूजा की जाती है.

भगवान विष्णु को संसार के पालनहार के रूप में भी जाना जाता है. भगवान विष्णु की कृपा से सभी प्रकार के संकटों से मुक्ति मिलती है. भाग्य साथ नहीं दे रहा है या कोई परेशानी चल रही है तो गुरुवार के दिन कुछ आसान उपाय करने से आपका भाग्य बदल सकता है. गुरुवार को गुरु का दिन तथा बृहस्पति के रुप में भी जाना जाता है. गुरु एक महत्वपूर्ण ग्रह है. बृहस्पति को देवताओं का गुरु भी कहा जाता है. धार्मिक ग्रंथों में बृहस्पति देव की पूजा के कई तरीके बताए गए हैं. जिसे करने से आपकी कुंडली का बृहस्पति बलवान होगा और आपके सारे बिगड़े काम बनेंगे.

तो आइए जानते हैं गुरुवार के इन उपायों के बारे में…

गुरुवार के उपाय
ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नान करना चाहिए तथा स्नान के समय ‘ॐ बृं बृहस्पते नमः’ का जाप करते रहना चाहिए. किसी भी प्रकार के गुरु दोष को दूर करने के लिए गुरुवार के दिन नहाने के पानी में एक चुटकी हल्दी डालकर स्नान करना चाहिए.इसके साथ ही स्नान करते समय “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए. गुरुवार का व्रत का पालन करना शुभ होता है.

इस दिन केले के पौधे पर जल चढ़ाकर उसकी पूजा करनी चाहिए ऐसा करने से जीवन में आ रही रुकावटें दूर होती हैं और अगर आप शादीशुदा हैं तो आपके वैवाहिक जीवन में किसी भी तरह की परेशानी नहीं आती है. मान्यता के अनुसार भगवान बृहस्पति को पीले रंग की चीजें बहुत पसंद हैं. इसलिए इस दिन ब्राह्मणों को पीले रंग की चीजें जैसे चने की दाल, फल आदि का दान करना चाहिए. इस दिन सुबह के समय चने की दाल और थोड़ा सा गुड़ गाय को अवश्य खिलाना चाहिए.

COMMENTS